Thursday, December 24, 2015

// // 9 comments

आधी नींद...अधूरे ख़्वाब और एक सुहावना सफ़र

पहले की कड़ियाँ  भाग एक, भाग दो 

शाम गहराने लगी थी.. दोनों टेरेस से नीचे उतर आये थे. बारिश अब जोरदार होने लगी थी. लड़की का मन तो बिलकुल नहीं था वापस आने का लेकिन दोनों को नीचे आना पड़ा. दोनों को प्लेटफॉर्म  के बीचोबीच एक बेंच मिल गयी थी बैठने के लिए. बेंच पर बैठे हुए लड़की ने एक ख्वाहिश लड़के को बताई....तुम पेंटिंग करते हो न, मेरे लिए कभी एक पेंटिंग बनाना तुम...हमारे इस एक पल की पेंटिंग, जब इतने बड़े से स्टेशन की भीड़ में बस एक मैं हूँ और एक तुम, मैं तुम्हारे कंधे पर सिर टिकाये बैठी हुई हूँ. इस एक पल की, और इसी तरह के हमारे अनगिनत पलों की मैं पेंटिंग चाहती हूँ जिसे मैं तुम्हारे और मेरे कमरे की दीवारों पर सजाऊँगी. तुम्हारा और मेरा कमरा...होगा वो? जाने कैसा होगा? लेकिन जैसा भी होगा बहुत खूबसूरत होगा...मैं खूब अच्छे से उस कमरे को सजाऊँगी, लेकिन अगर नहीं हुआ तो...इस एक वाक्य को बोलते बोलते जाने क्यों लड़की की मुस्कान काँपने लगी थी. उसकी झील सी गहरी आँखें अचानक भर आई जिसे लड़के से छिपाने के लिए उसने तेज़ी से मुँह  दूसरी ओर फेर तक दूर किसी अदृश्य चीज़ को दिखा कर हँसना शुरू कर दिया.


लड़का लेकिन उसकी इतनी कोशिशों के बावजूद सब देख गया था. उसके मासूम चेहरे से एक पल के लिए अपनी नज़रें जो नहीं हटाता था वो. इसलिए उसकी हँसी और आंसू दोनों को नज़रंदाज़ करते हुए उसने लड़की का चेहरा जबरदस्ती अपनी और घुमा लिया....बताओ क्या चलने लगा तुम्हारे मन में अचानक??? कितनी अच्छी प्लानिंग तो थी तुम्हारी...अभी पेंटिंग बनवा रही थी तुम, कमरे को सजा रही थी और कमरे को सजाते हुए रुक गयी...आँखों में ये आँसूं कहाँ से आ गए?

लड़की अब तक बड़ी चालाकी से आँखों के बहते आंसुओं को पोंछ चुकी थी, और अपनी नकली हँसी से लड़के को बहलाने की कोशिश कर रही थी. लड़का लेकिन एक पल को भी उसकी चाल में नहीं आया. वो अब भी गंभीर था...समझ तो वो रहा था कि बात क्या है लेकिन फिर भी लड़की से सुनना चाहता था. कुछ देर की नाकाम कोशिश के बाद आखिर लड़की ने हथियार डाल ही दिए. बिना आसपास के लोगों की परवाह किये वो लड़के के सीने में छुप गयी.रुलाई के बीच उसके शब्द लड़के को साफ़ साफ़ सुनाई दे रहे थे....मुझे रोक लो..मैं जाना नहीं चाहती. तुमसे अलग नहीं होना चाहती मैं.

लड़का बहुत बेबस महसूस कर रहा था. काश ! रोक पाता उसको हमेशा के लिए...अपने पास..अपने साथ..पर सच्चाई वो दोनों ही जानते थे. वो तो बस चुपचाप उसके चारों और अपनी बाँहों  का घेरा बनाए उसे सान्त्वना दिए जा रहा था...सब ठीक होगा...हम तुम हमेशा साथ रहेंगे.

कुछ देर उसे चुप कराने की नाकाम सी कोशिश करने के बाद लड़के ने अचानक ब्रह्मास्त्र फेंका..अच्छा अच्छा सुनो, एक मिनट चुप होकर ज़रा मेरी बात तो सुन लो...बेहद इम्पोर्टेंट बात है. लड़की अचानक सुबकियों के बीच खामोश हो उसका मुँह  निहार ही रही थी कि लड़के ने उसी गंभीरता से पूछा...अगर नहाने भर का पानी हो गया हो तो बस करो...टंकी खाली न हो जाए...पहले तो लड़की वैसे ही उसे ताकती रही फिर बात का मतलब समझ आते ही वो सबकुछ भूल खिलखिला पड़ी थी. लड़के का मकसद पूरा हो गया था. उसके हलके हलके घूंसे खाता वो मुस्कुरा रहा था.

वो ग्यारह घंटे कब कहाँ और कैसे फुर्र हो गए, पता ही नहीं चला था. ट्रेन जब तक खुली आधी रात हो चुकी थी. लेकिन दोनों सोना नहीं चाहते थे. एक दूसरे की बातों में खोये दोनों की आँखों से नींदें कोसो दूर थी. नींद के साथ साथ लड़की के मन से ‘कोई क्या सोचेगा’ का डर भी गायब था. लड़के ने एक बार हलके से उसे टोका भी था..मैं अपनी बर्थ पर जाऊं अब? लोग क्या सोचेंगे? लड़की ने पहले तो उसे अजीब तरह से घूर के देखा, फिर उसके सामने हाथ नचा दिया...सोच कर कोई क्या उखाड़ लेगा जी??? मेरी बर्थ..मेरा टिकट..मेरे तुम..कहती हुई वो अचानक थोड़ा शर्मा गई...लड़का बोगी के उस हलके अँधेरे में भी उसके चेहरे की लाली देख गया था. उस दमकते चमकते मासूम से चेहरे वाली लड़की को यूँ छोड़ कर सोना तो लड़का भी नहीं चाहता था, सो चुपचाप उसकी बात मान गया

रात गहराने के साथ साथ कई घंटों की थकी लड़की की पलकें नींद से बोझिल होने लगी थी. पर लड़की भी मानो लड़के के साथ के हर पल को पूरी शिद्दत से जीना चाह रही थी. वो लड़के को नहीं जताना चाह रही थी पर उसी की तरह वो भी जानती थी कि शायद उन दोनों के साथ की यह आखिरी रात होगी. एक तरफ उन पलों में वो दोनों ही बेहद खुश थे, वहीँ हर पल के साथ उन दोनों को ही एक अजीब सी बेचैनी घेरे जा रही थी. लड़का जानबूझकर उसे कोई भी ऐसी बात नहीं करने दे रहा था जो उसे उदास कर दे.. वो उदास बिलकुल अच्छी नहीं लगती, ऊटपटांग बातें करते हुए, अजीबोगरीब लॉजिक झाड़ते हुए ही अच्छी लगती है वो.

बहुत देर तक नींद से लडती लड़की आखिर हारने लगी तो लड़के ने उसे डांट के सुलाना ही उचित समझा. लड़की ने अबकी उसकी बात मान तो ली, पर उसकी एक शर्त थी..वो उसका तकिया होगा...अपने साथ के इन आखिरी पलों में वो उसकी गोद में सर रख कर सोने का सुख महसूस करना चाहती थी. जाने कब से देखा गया अपना एक और सपना पूरा करना चाहती थी. लड़का भी उसके इस सपने से अच्छी तरह वाकिफ था..और कहीं न कहीं वो भी उसके इस सपने को पूरा करना चाहता था. इसलिए लड़की की तरह उसने भी “कोई क्या उखाड़ लेगा” वाला फंडा अपना लिया..

लड़की बेहद तसल्ली से उसकी गोद में सिर रखे उसके हथेली में अपनी हथेली जकड़े गहरी नींद सो गयी थी और उसके उस मासूम चेहरे को निहारते लड़के ने उसके माथे पर से आवारा भटकती जुल्फों को धीरे से उसके कानों के पीछे खोंसा...ऊपर मानो किसी अदृश्य शक्ति की ओर देख अपनी सनशाइन के लिए, अपनी मानसून प्रिंसेज के लिए कोई दुआ माँगी और आँखें मूँद ली...



लड़के को अब कलकत्ता की बाकी कोई बात इतना नहीं याद आती, क्यों कि जब भी वो याद करता है, उसे कलकत्ता का अपना आख़िरी दिन याद आता है...जिस दिन वो और उसकी सनशाइन...दोनों वापस आ रहे थे...| हावड़ा का वो प्लेटफ़ॉर्म...वहाँ बना वो बड़ा सा टेरेस...उस टेरेस से लडकी के साथ हुगली नदी को निहारते हुए लडकी की बकबक से आनंदित होना...वहाँ खड़े होकर उस लडकी के बचकाने-से लगने वाले सपने, उन ख्वाहिशों को सुनना और उनका पूरी गंभीरता से समर्थन कर उसकी आँखों में वो खुशी की चमक देखना...

9 comments:

  1. जैसे कोई नींद में किसी प्यारी सी परी और उसके सजीले राजकुमार का सपना देखते हुए मुस्करा रहा हो...और उसकी नींद खुल जाए...| ऐसे ही खूबसूरत सपने और उस सपने से जागने के बाद के असर जैसी अनोखे अहसासों वाली पोस्ट है तुम्हारी...| ऐसे ही खूब लिखो...इतनी ही मासूमियत के साथ...|

    ReplyDelete
  2. जाड़े की सुबह में गुनगुनी धुप सी पोस्ट... यादों की गरमाहट जिसकी हरारत आज भी इतने बरसों बाद महसूस होती है और ऐसे में यादों को सहलाने की तुम्हारी तरकीब... एक मोर पंख से हौले हौले... इतने एहतियात के साथ कि कहीं यादों की नींद में खलल न पड़े... यादें सोती हैं तो बड़े इत्मीनान से सोती हैं, जगाने को जी नहीं करता, लेकिन कभी आधी नींद में करवट बदलें, तो इतनी ख़ूबसूरत पोस्ट तैयार होती है!!
    और ज़िक्र जब कोलकाता का हो तो मेरा दिल भाग कर पहुँच जाता है वहाँ!!
    जीते रहो!

    ReplyDelete
  3. ओहह !!! भाग-3 पर आए हैं हम, चले एक-दो पढ़ने....

    ReplyDelete
  4. SNAKE BOY: खतरनाक सांपों से खेलना है इनका शौक
    http://mp.patrika.com/landing_preview.php?catslug=chhindwara&newslug=his-hobby-is-playing-with-dangerous-snakes-saved-the-lives-of-more-than-500-snakes-18599

    ReplyDelete
  5. सुंदर अतिसुंदर पोस्‍ट। अच्‍छा लिंख रहे हैं अाप।

    ReplyDelete
  6. सुंदर अतिसुंदर पोस्‍ट। अच्‍छा लिंख रहे हैं अाप।

    ReplyDelete
  7. bahut khub kripya hamare blog www.bhannaat.com ke liye bhi kuch tips jaroor den

    ReplyDelete
  8. Digital India से जुडेा
    ��अगर आप 2-3 महीने बाद 5000-8000 की income चाहते हैं !
    ��अगर आप 7-8 महीने बाद 12000-18000 की income चाहते हैं !
    ��अगर आप 1 साल बाद 35000-50000 की income चाहते हैं !
    ��अगर आप 1.5 साल बाद 80000-100000 की income चाहते हैं !
    ��2 साल बाद अगर 1.5 लाख की sallery चाहते हैं !
    ��तो join कीजिये CHAMPCASH��

    ➡ वो भी बिना किसी ��investment�� के ⬅
    ➡ बिना किसी FORMALITIES के ⬅
    ➡ बिना किसी RISK के ⬅

    ⬆ इस job में कोई भी join हो सकता है ⬆

    ➡Housewife
    ➡Girls
    ➡Students
    ➡Govt employee
    ➡No age limit
    ➡No qualification needed

    और किसी business में लाखो रूपैये Invest करने पर भी success की कोई guarantee नही मिलेगी

    इस business में सिर्फ 6 महीने तक दिल लगाकर काम करने पर

    ❗SUCCESS की 100% nhi 110% GUARANTEE है❗

    जोइनिँग के लिए :- ��������������������
    ����Play store से CHAMPCASH iNSTALL कीजिये
    ���� जब आप इस एप्प को खोलेंगे तब इसमें आपको Signup with champcash पे click करना है आपको इसमें जो डिटेल पूछी जाये वो भरनी है

    जैसे = Name
    = Email address
    = Pasword जो आप याद रख सके
    = Date of Birth
    = Mobile No.

    इसके बाद आपको इसमें Proceed पे क्लीक करना है

    अब इसमें आपसे sponsor ID पूछा जायेगा जिसमे आपको मेरी Refrl ID ~ 446344 लिखनी है

    याद रहे sponser id में ~ 446344 डालने पे ही हम आपकी help कर पायेंगे !

    whatsapp ~ +91 9827749660

    ReplyDelete
  9. 🙏नौकरी करने वाले ओर नौकरी ढूँढने🙏 वाले ध्यान से पढ़े फिर जोइन किजिए जोइन करके आप 30000/50000 हजार महिने कमा सकते हैं विश्वास रखिए कोई झुठ नहीं है एक बार करके देखिए झूठा निकला तो छोड दिजिगा जोइन होने मे कोई पैसा नही लगेगे एकदम फ्री जोइनिंग है। किया करना है ध्यान से पढिए
    1⃣. Play Store मैं जाकर Champcash Install करो और उसे Open करो।
    2⃣. Sing Up with Champcash पर click करो और अपनी Details डाल दो। 👇🏿
    1. आपका नाम
    2. आपकी जीमेल
    3. आपका कोई भी पासवर्ड
    4. आपकी बर्थडे डेट
    5. आपका whats app नंबर

    फिर आपको Process पर Click करना है।
    आपसे जब Sponsor ID मागे तो 1887507👈 डालना हैं।

    3⃣. अब आपको Champcash कुछ Application Install के लिए देगा उन Apps को Install करनी है अपने फोन मैं जो भी आप। Application install करते हो उन्हे 2 से 3 मिनट
    तक open करना ज़रूरी है।

    4⃣. जब आपका Challenge Complete हो जायेगा तो आप Free में Join कर पाओगे।
    5⃣. आपको फिर 1 dollar मिलेगा मतलब 62₹ और आप हमारी कंपनी मैं active हो जाओगे । आपको अपनी Refer ID मिलेगी जिससे आप हजारो लाखो लोग join करके करोड़ो कमा सकते हो
    याद रहे Refer ID ये डालो
    👉 1887507

    इसे यहां से install कीजिए

    https://m.apkpure.com/by/com.ens.champcash
    Link पर click करके 👆🏿
    Apne play store se champcash ko search Krke use instell krlo
    Refer ID (1887507)
    जब मागे id तो ये डालना है 👆🏿
    Whatapp (9716655249)

    ReplyDelete

आप सब का तहे दिल से शुक्रिया मेरे ब्लॉग पे आने के लिए और टिप्पणियां देने के लिए..कृपया जो कमी है मेरे इस ब्लॉग में मुझे बताएं..आपके सुझावों का इंतज़ार रहेगा...टिप्पणी देने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद..शुक्रिया