Saturday, July 10, 2010

// // 2 comments

Those Rain were special

Rains pour down,
Like the tears from my eyes, 
with every drop of rain, 
comes all your memories...
I'm alone in this rain,
with only sorrow and pain...

Those rain were special,
spectacular,
when you was with me,
Everything was so bright then ,
Rain was so beautiful, 
I remember how we talked,laughed,
walked in those rain,
The way the flower blossoms after rain,
The way the grass grows,
The way the skies clear and become brighter,
after rain, were so romantic..
Those days were bliss..

(Friends, please ignore mistakes, if any, in this post...this was written by me around 2 years back...I know my English is real bad..:P )

2 comments:

  1. अभि बचवा..फ्रेंड्स त इग्नोर कर देंगे लेकिन चचा नहीं करने वाले हैं... हमरा हिंदी भासा का एतना कमजोर है कि तुमरा भावना एक्स्प्रेस नहीं हो सकता है... चलो चचा के तरफ से तुमरा अंगरेजी कविता का हिंदी अनुवाद... अनपढ हैं त का हुआ चच्चा त हईए हैं तुमरे...

    मेघ बरसे
    जैसे अश्रु धार मेरे नयन से
    हर बूंद मेरे अश्रु की
    आती है ले स्मृति तुम्हारी
    मैं अकेला हूँ भरी बरसात में
    दुःख और पीड़ा को लिए!

    ख़ास कितनी थी वो वर्षा
    कितनी मनमोहक.
    कि मेरे साथ थीं तुम
    कितनी चमकीली थी सारी वादियाँ
    बरसात वो कितनी मदिर थी
    क्योंकि उसमें थी घुली हर बात तेरी
    हमसफर होकर जो तुमने मुझसे की थीं.

    फूल खिलते थे वो जब बरसात में
    घासें हरी दिखती थीं धुलकर
    आसमाँ भी साफ चमकीला सा दिखता था
    भरी बरसात के बाद, कितना रूमानी.
    और कितने थे वो दिन अनमोल
    क्योंकि साथ थीं तुम!!

    मिला कर देख लेना ओरीजिनल कबिता से...

    ReplyDelete
  2. चाचा विश्वास मानिए, दिल भर आया, कसम से....
    अब हम का बोले आपको...ई कविता को आज हम सोचे की हिंदी में अनुवाद कर के पोस्ट करते हैं, कुछ अच्छी बन भी रही थी, लेकिन संतुष्ट नहीं था मैं...और फिर वही ओरिजनल पोस्ट कर दिए यहाँ...

    ReplyDelete

आप सब का तहे दिल से शुक्रिया मेरे ब्लॉग पे आने के लिए और टिप्पणियां देने के लिए..कृपया जो कमी है मेरे इस ब्लॉग में मुझे बताएं..आपके सुझावों का इंतज़ार रहेगा...टिप्पणी देने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद..शुक्रिया