Sunday, June 6, 2010

एक नयी दुनिया बसाएं..


हम भी काश इन परिंदों की तरह,
आकाश में कहीं दूर चल चलें..
एक नया आसमान तलाशने..
एक नयी दुनिया बसाने..
जहाँ हर तरफ खुशी हो..
एक ऐसा जहाँ बनाये जहाँ,
नफरत  की कोई जगह न हो..
और प्यार कभी कम न हो..