Friday, March 5, 2010

एक बार रूठकर हमसे देखो


एक बार रूठकर हमसे देखो,
हमें मनाने का सलीका आता है...

पाओगे वो सुकून हमारे पनाहों में,
हमें इस कदर प्यार निभाना आता है..

जब भी कभी दिल उदास हो,
याद कर लेना हमारी बातें...

एक हलकी सी मुस्कराहट खिल जाएगी,
क्यूंकि हमें ग़मों को प्यार से मिटाना आता है....